[2021] उत्तर-प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना | UP Shramik Durghatna Bima Yojna

UP-Shramik-Durghatna-Bima-Yojna
उत्तर-प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना

उत्तर प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना: नमस्कार पाठको आज हम चर्चा करेंगे उत्तर प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना के बारे में। यह सेवा उत्तरप्रदेश सरकार जल्द ही लागू करने वाली है। इससे पहले आपने बहुत सी बीमा योजना देखी होगी जिनपर कभी 1 रूपए प्रतिमाह या 365 रूपए सालाना अंशदान के रूप में देना अनिवार्य था।

इस बीमा योजना की खास बात यह है की आपको किसी भी प्रकार के प्रीमियम का भगतान नहीं करना होगा। यानि की आपको इस स्कीम का लाभ लेने के लिए 1 रूपए भी खर्च करने की जरुरत नहीं है।   

इस पोस्ट पर आप जानेंगे किन स्थितियों में कितना पैसा मिलेगा, स्कीम का लागु होने का दिनांक, कैसे आप आवेदन की प्रक्रिया को पूरी करेंगे, पहले की योजनए इस योजना कैसे अलग है, कैसे यह बीमा योजना आपको 2 लाख रूपए का लाभ दिला सकती है आदि महत्वपूर्ण विषयो पर चर्चा करेंगे। इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढ़िए। 

कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए सरकार नई नई योजनाओं को शुरू भी कर रही है ताकि लोगों की परेशानी कम की जा सके। सरकार इन योजनाओं के तहत उन्हें ₹5000 के ₹1000 फ्री में राशन भी दे रही है। इसी के साथ एक और बजट का नाम आता है जो की श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना है। 

उत्तर प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना

दोस्तों श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना, 2021 के नए बजट के लागु होने के साथ उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा ऐलान किया गया था। इस योजना का पूरा प्रारूप तैयार कर लिया गया है। यह योजना पूरी तरह से मुफ़्त होगी जिसका सारा प्रीममियम सरकार ही भरेगी। 10000000 असंगठित श्रमिकों के लिए योजना लॉन्च करने की तैयारी है जिसके दायरे में 45 तरह के कर्मकार आएंगे। 

अभी सरकार की तरफ से एक बड़ा बजट पारित किया गया है, जो की ₹10900 करोड पर का एक महा बजट है। और इस बजट में आपको लाभ मिलने वाला है। इस बजट का लाभ लेने के लिए आपको 17 जून शाम 5:30 बजे तक इसमें आवेदन करना होगा। इस बजट में आपको ₹25000 से लेकर ₹100000 और ₹500000 तक की धनराशि मिलने वाली है। 

किसान दुर्घटना में पहले दी जाने वाली राशि में संशोधन किया है। अब किसान दुर्घटना में अस्थाई रूप से जो लोग विकलांग हो जाते हैं उन्हें ₹100000 की सहायता राशि दी जाती है। जो किसान दुर्घटना होने पर या जो लोग इसमें गंभीर रूप से दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं, उन्हें इसमें ₹100000 दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री कृषक कल्याण योजना के अंतर्गत यदि किसी भी किसान भाई की दुर्घटना हो जाने के कारण मौत हो जाती हैं, तो उन्हें ₹400000 दिए जाएंगे और ₹100000 अलग से उनके बैंक खाते में सहायता राशि के रूप में दिए जाएंगे। 

किन श्रमिकों को मिलेगा लाभ:

श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना के तहत इसका लाभ धोबी, नाई, मोची, माली, दर्जी, बुनकर (कोरी, जुलाहा), रिक्शा-चालक, घरेलू-कर्मकार, कूड़ा बीनने वाले श्रर्मिक, हाथ ठेला चलाने वाले, फुटकर सब्जी-फल-फूल विक्रेता या किसान, समाचार पत्र विक्रेता, मोटर-साइकिल व साइकिल को ठीक करने वाले सहित 45 तरह के काम करने वाले श्रमिक इस योजना का लाभ उठा पाएंगे।  

किस स्तिथि और कारण से मिलेगा किसान को योजना का लाभ:

अब जिन किसानों की मौत किसान दुर्घटना योजना के अंतर्गत बताये कुछ कारणों से होती है या किन-किन वजह से उन्हें लाभ मिलेगा आइये जानते है

  • कृषि कार्य में कृषि यंत्रों का प्रयोग करते हुए के वजह से मौत होने पर
  • खेती से सम्बंधित सिंचाई कार्य करते वक्त 
  • कुँवा खोदते वक्त 
  • ट्यूबवेल स्थापित एवं ट्यूबवेल संचालित करते वक्त   
  • बिजली का काम करते समय करंट लगने से 
  • खेतो से गुजरने वाली विद्दुत लाइन के क्षतिग्रस्त होने पर 
  • खेतो में फसलों, फूल, सब्जियों पर रासायनिक दवाओं का इस्तेमाल करते वक्त 
  • मंडी प्रांगण एवं मंडी अधिनियम के अंतर्गत प्राधिकृत क्रय केंद्रों पर कृषि उपज की बिक्री करते समय 
  • बोरियो के ढेर लगाते समय 
  • मंडी प्रांगण में ट्रेक्टर ट्राली, बैलगाड़ी इत्यादि के पलटने पर हुई दुर्घटना 
  • कृषि उपज के विक्रय के लिए घर से खेत आते या जाते समय हुई दुर्घटना 
  • कुट्टी मशीन एवं कृषि सयंत्रो में आने तथा कृषि सुरक्षा, पशु चराई, पढ़ो की छंटाई आदि 

ये सभी कुछ परिस्थितियाँ और वजह है जिनके होने पर यदि किसी किसान की मृत्यु या अंग-भंग हो जाती है तब इस योजना के तहत 5 लाख रूपए की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जायेगी। जिसे आप सीधा अपने बैंक अकाउंट में ट्रांसफर करा पायंगे। कुछ ऐसी योजना का प्रस्तावित दवा की सरकार ने कर रखा है।  

दोस्तों जानकारी में शामिल करते हुए हम आपको यह भी बताना चाहते है, की इससे योजना के आने से पहले किसान भाई  मृत्यु होने पर ₹100000 मिलते थे। जिसे इस नयी योजना के तहत बढ़ा कर ₹200000 कर दिया गया है। उसी तरह जब किसान भाई अपंग हो जाता है तो उसको ₹25000 पहले दिए थे, जो कि अब ₹100000 हो चुकी है। 

दुर्घटना में मृतक किसान के परिवार को अंत्येष्टि के लिए दी जाने वाले सहायता राशि भी 2 हजार रूपए से बढ़ा कर 4 हजार रूपए कर दी गयी है।  

सरकार की योजनाओं की सूची:

  1. प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना
  2. पीएम मोदी हेल्थ आईडी कार्ड
  3. स्वामित्व योजना
  4. आयुष्मान सहकार योजना
  5. प्रधानमंत्री कुसुम योजना
  6. स्वनिधि योजना
  7. अन्‍त्‍योदय अन्‍न योजना
  8. नेशनल एजुकेशन पालिसी योजना
  9. प्रधानमंत्री रोजगार योजना
  10. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
  11. आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना
  12. रोजगार प्रोत्साहन योजना
  13. प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना
  14. किसान सम्मान निधि योजना
  15. प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 
  16. प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना
  17. आवास योजना लिस्ट 
  18. सुरक्षित मातृत्व आश्वासन सुमन योजना
  19. प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना
  20. प्रधानमंत्री रोज़गार योजना 
  21. उज्ज्वला योजना
  22. प्रधानमंत्री मुद्रा लोन योजना
  23. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 
  24. जीवन ज्योति बीमा योजना
  25. प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना
  26. प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना
  27. गर्भावस्था सहायता योजना
  28. पीएम कृषि सिंचाई योजना
  29. प्रधानमंत्री कर्म योगी मानधन योजना
  30.  प्रधानमंत्री मुद्रा योजना
  31. अटल पेंशन योजना 
  32. प्रधानमंत्री प्रवासी तीर्थ दर्शन योजना
  33. प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना
  34. ऑपरेशन ग्रीन योजना
  35. मत्स्य सम्पदा योजना

आवेदन करने के लिए जरुरी दस्तावेज:

  • दुर्घटना में किसान के घायल होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज पर्ची की प्रतिलिपि या फोटो-कॉपी।
  • दुर्घटना में मृत्यु होने पर मुर्दा-घर की रिपोर्ट या FIR की कॉपी।
  • मृत्यु होने पर रजिस्टर्ड सरकारी अधिकारी द्वारा जारी किया गया मृत्यु प्रमाण-पत्र।
  • श्रमिक जहां पर काम करता था वहां के नियोजक का प्रमाण-पत्र।
  • लाभार्थी के पंजीयन परिचय पत्र या कार्ड की कॉपी।
  • आधार कार्ड की कॉपी।
  • बैंक खाता या पासबुक के पहले पन्ने की कॉपी।

आवेदन करने की प्रक्रिया:

दोस्तों वैसे तो यह प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीको से उपलब्ध है लेकिन हमारी सलाह में सभी मजदूर और श्रमिक भाइयो के लिए नजदीकी जन सेवा केंद्र पर जाकर जरुरी और ऊपर बताये गए दस्तावेज की फोटो-कॉपी जमा करवाना ज्यादा बेहतर विकल्प होगा। ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के लिए आप इस http://www.upbocw.in/ वेबसाइट के जरिये कर सकते हैं। 

निष्कर्ष / Conclusion 

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं, उत्तर-प्रदेश श्रमिक दुर्घटना बीमा योजना की यह जानकारी आपको आसान भाषा में समझ में आयी होगी। ऐसी ही बहुत सी योजनाए भारत सरकार द्वारा चलायी जा रही है। जिनकी जानकारी हमारे श्रर्मिक-मजदूर भाइयो को न होने के कारण लाभ से वंचित रहना पड़ता है। Hindiansite का उद्देश्य है सभी जरुरी जानकारियों को आसान भाषा में आप तक पहुंचना। हमारी मदद करने के लिए इस पोस्ट को जरुरत-मंद के साथ जरूर शेयर करें। और Hindiansite पर विजिट करते रहे। 
धन्यवाद। 

एक टिप्पणी भेजें

Your comment is Valuable. Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने