सोशल मीडिया की वजह से हुई जेल। भारतीय Youtuber पारस

सोशल मीडिया की वजह से हुई जेल
सोशल मीडिया की वजह से हुई जेल

सोशल मीडिया की वजह से हुई जेल: सोशल मीडिया हम से लगभग हर कोई इस्तेमाल करता है, फिर चाहे उम्र कोई भी हो। इस सोशल मीडिया में शामिल है फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, ट्विटर आदि अनेक वेबसाइट और Apps। जिनका उपयोग हर कोई अपनी जरूरत और स्वभाव के हिसाब से  करता है। 

भारत मे तेज़ी से बढ़ते टेक्नोलॉजी के बीच हर घर मे मोबाइल और कम्प्यूटर आम बात है। इस टेक्नोलॉजी के होने के फायदे तो आप जानते होंगे । लेकिन क्या हो अगर सोशल मीडिया की वजह से ही आपको जेल हो जाये।

कुछ ऐसे ही वाकिये हाल फिलहाल में हमे देखने को मिले, जहा सिर्फ कुछ कमेंट और टिप्पड़ी की वजह से लोगो को जेल जाना पड़ा। आइये जानते है असली मामला क्या है।

अगर आपके मोबाइल में Internet की सुविधा उपलब्ध है तो आपने Youtube पर वीडियोस जरूर देखें होंगे। इन्हीं Videos कक बनाने वाले Creators को सोशल मीडिया की भाषा मे Youtuber's बोला जाता है। 

इन्ही Youtuber's में शामिल एक नाम पंजाब के लुधियाना जिला के रहने वाले पारस का है। चैनल का नाम Paras Official Gaming live stream है। इस चैनल में पारस ऑनलाइन गेम्स संबंधित वीडियोस अपलोड कर पैसे कमाता था।
भारतीय Youtuber पारस
भारतीय Youtuber पारस

Pubg गेम जो कि भारत मे कुछ समय तक बहुत प्रचलित हुआ और फिर भारत सरकार द्वारा नीतियों के उल्लंघन की वजह से Bann कर दिया गया। लेकिन कुछ महीनों के बाद Krafton कंपनी द्वारा Battle Grounds India mobile गेम लांच हुआ। जिसकी आलोचना करते हुए अरुणांचल-प्रदेश के विधायक ने ट्वीट कर लिखा। यह गेम भी चीन का है बस नाम बदल गया है। इसे भी BANN करना चाहिए। 
arunanchal pradesh mla tweet on pubg
arunanchal pradesh mla tweet on pubg

एक गेमर और Youtuber जिसे Bann की बात रास न आई । शायद इसलिये पारस ने अपने एक वीडियो में न सिर्फ अरुणांचल-प्रदेश के विधायक को ही चीन का बता दिया बल्कि Arunanchal-Pradesh में रहने वाले सभी लोगो को Chinese कहकर आलोचना की। साथ ही अरुणांचल-प्रदेश को भी चीन में होने का तंज कस दिया। 

बस फिर क्या था, वीडियो सुर्खियों में आया और Arunanchal-Pradesh की जनता ने जी भर के पारस के खिलाफ मुकदमा दायर कर दिया। इन सभी मुकदमो में 3 तरह की धाराएं लगाई है जिनमे से सिर्फ एक मे ही बैल का प्रवधान है। मुकदमे लोगो की भानो को ठेस पहुचना, भारत की अखंडता पर सवाल खड़ा करना और फालतू की टिप्पड़ी करने के तहत किये गए है।

दोस्तो ये कोई पहला मामला नही है, इससे पहले भी कुछ Cases हो चुके है। वक़्त के साथ इन मामलों को भुला दिया जाएगा, लेकिन इससे सीख लेने वाली कुछ बातें हैं जिन्हें सोशल मीडिया इस्तेमाल करते समय आपको जरूर ध्यान रखना चाहिए।

सोशल मीडिया जानकारियो को अरदान प्रदान करने का बेहद ही तेज़ और किफायती जरिया है। लेकिन बहुत से लोग इसे अपनी बढास निकलने के उपयोग करते है। जिसकी वजह से लोगो को जेल और शर्मिदगी का सामना करना पड़ सकता है। 

इससे बचने के लिए :

  • Social-media का इस्तेमाल संभल कर अपने पूरे हसो-हवास मे करें।
  • किसी भी जाति विशेष, धर्म, नेता, राज्य, लड़ाई-झगड़े और लिंग के आधार पर आपत्तिजनक टिप्पड़ी देने से बचें।
  • अपनी पूरी जिम्मेदारी और भवनाओं को काबू में रख कर पोस्ट या कमेंट करें।
  • सोशल मीडिया में ऐसे Groups, Channel, या एकाउंट से दूर रहे जिनकी गतिविधियां संदिग्ध या आतंकवादी सोच का समर्थन करती है।
  • अभद्र भाषा और गैरकानूनी हरकते का उपयोग करने से बचें।
दोस्तो पहले के मुकाबले अब भारत सरकार Internet की नीतियों को लेकर जड़ सख्त है। यदि आप किसी भी संदिग्ध या आपत्तिजनक मामलो में दोषी पाए जाते होतो आपको जेल होना आम बात है।

भारत सरकार ने फरवरी महीने में सोशल मीडिया के Act को जारी करते हुए सभी कंपनियों को सूचित किया कि, प्रत्येक कंपनी भारत के यूज़र्स का डेटा जरूरत पड़ने पर भारत सरकार से सांझा करेगी।

किसी भी पोस्ट, कमेंट, वीडियो आदि को आपत्तिजनक पाए जाने पर उसपर अगले 36 घण्टो के अंदर कार्यवाही की जाएगी।

निष्कर्ष 

दोस्तों इंटरनेट आज की दुनिया का सबसे शक्तिशाली और तेज़ यन्त्र है। इसका उपयोग पूरी दुनिया को बदलने की ताकत रखता है। ऐसे में हमे समझना चाहिए की इंटरनेट का सही और गलत उपयोग क्या है। बिना एक कदम घर के बहार चले भी हम पूरी दुनिया से connected हैं। ऐसे में किसी भी प्रकार की जानकारी या टिप्पड़ी इंटरनेट में लिखने से पहले उसकी सत्यता की जांच जरूर करें।  


एक टिप्पणी भेजें

Your comment is Valuable. Please do not enter any spam link in the comment box.

और नया पुराने