Cystone Tablet Uses in Hindi | सिस्टोन टैबलेट के फायदे-नुकसान, उपयोग और सावधानियाँ

Introduction / परिचय

सिस्टोन टैबलेट एक आयुर्वेदिक स्वामित्व वाली दवा और फाइटोफार्मास्युटिकल फॉर्मूलेशन है, जो कि गुर्दे की पथरी में संकेतित है।

Cystone Tablet Uses in Hindi
Cystone Tablet Uses in Hindi

यह पुराने मूत्र पथ के संक्रमण, पथरी की पुनरावृत्ति की रोकथाम, क्रिस्टलुरिया और पेशाब में जलन में भी लाभकारी है। सिस्टोन स्वाभाविक रूप से एक स्वस्थ मूत्र पथ को बढ़ावा देता है और सामान्य मूत्र संरचना और म्यूकोसल अखंडता को बनाए रखने में मदद करता है।

इस लेख में, मैं गुर्दे की पथरी और पुराने मूत्र पथ के संक्रमण के संबंध में सिस्टोन टैबलेट के उपयोग की वर्तमान स्थिति और भविष्य पर चर्चा करूंगा और कैसे सिस्टोन टैबलेट पुनरावृत्ति को रोकने में मदद कर सकता है।

    Cystone Tablet Uses in Hindi / सिस्टोन टैबलेट के उपयोग

    • सिस्टोन टैबलेट / Cystone Tablet गुर्दे की पथरी, मूत्र मार्ग में संक्रमण और अन्य स्थितियों के उपचार के लिए निर्देशित किया जाता है।
    • यह पेशाब के दौरान जलन, पेट के निचले हिस्से में भारीपन और बार-बार पेशाब आने जैसे लक्षणों से भी राहत दिलाता है।
    • मूत्रवाहिनी पथरी, सिस्टिटिस के उपचार में उपयोग किया जाता है।
    • सिस्टोन टैबलेट / Cystone Tablet इस दवा गाइड में सूचीबद्ध नहीं किए गए उद्देश्यों के लिए भी उपयोग किया जा सकता है।
    • सिस्टोन टैबलेट मूत्र के पीएच स्तर में सुधार करता है।

    Composition / संयोजन

    पासनाभेडा, शिलापुष्पा और छोटे कैल्ट्रोप्स (गोक्षुरा)

      Cystone Tablet Benefits in Hindi / सिस्टोन टैबलेट के लाभ या फायदे 

      • मूत्रवाहिनी शूल से छुटकारा दिलाता है
      • क्रिस्टलुरिया और पथरी बनने से रोकता है
      • जननांग पथ में संक्रमण को कम करता है
      • म्यूकिन को घोलता है और इसके सुधार को रोकता है
      • गुर्दे और मूत्र पथ के स्वास्थ्य को बनाए रखता है

      Cystone Tablet Side effects in Hindi / सिस्टोन टैबलेट के दुष्प्रभाव या नुकसान 

      आयुर्वेदिक दवा के रूप में कोई साइड इफेक्ट नहीं बताया गया है लेकिन ओवरडोज या गलत इस्तेमाल के मामले में:

      सिस्टोन टैबलेट का संभावित दुष्प्रभाव हो सकता है जैसे: जी मिचलाना, दस्त, उल्टी, एसिडिटी, पेट फूलना, तैलीय मल आदि।

      How it works / यह काम किस प्रकार करता है?

      Pasanabheda  / पासनाभेद

      Pasanabheda (Saxifraga Ligulata) में मूत्रवर्धक, दाहक और रोगाणुरोधी गुण होते हैं। म्यूसिलेज की एक उच्च सामग्री के कारण, जो जड़ी-बूटी को इसके मंदक गुण प्रदान करता है,

      Pasanabheda चिढ़ या सूजन वाले आंतरिक ऊतक को शांत करता है और उसकी रक्षा करता है। एक मूत्रवर्धक के रूप में, जड़ी बूटी सिस्टोन टैबलेट को सुरक्षित और अच्छी तरह सहन करने में मदद करती है। आप मतली, उल्टी और कब्ज जैसे दुष्प्रभावों का अनुभव कर सकते हैं, मूत्र के साथ छोटे पत्थरों और बजरी को बाहर निकाल दें।

      Shilapushpa / शिलापुष्पा

      शिलापुष्पा (डिडिमोकार्पस पेडिकेलटा) अपने एंटीलिथियाटिक गुण के लिए जाना जाता है, जो मूत्र पथरी के गठन को रोकता है। लिथोट्रिप्टिक के रूप में, शिलापुष्पा गुर्दे की पथरी को घोलने में मदद करती है। जड़ी बूटी अपने रोगाणुरोधी गुणों के लिए भी जानी जाती है।

      Gokshura / गोक्षुरा

      स्मॉल कैल्ट्रोप्स (गोक्षुरा) मूत्र-जननांग रोगों जैसे कि गुर्दे की पथरी, मूत्राशय के संक्रमण और अन्य मूत्र पथ के संक्रमण के प्रबंधन में सहायक है। यह डिसुरिया (पेशाब में दर्द या पेशाब में मौजूद रक्त) और क्रिस्टलुरिया को खत्म करके सामान्य मूत्र पथ के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मदद करता है।

      Precaution & Safety / सावधानी और सुरक्षा

          यदि आपको निम्न में से कोई भी स्थिति है तो कृपया अपने डॉक्टर को सूचित करें:

          1. एलर्जी
          2. पथरी
          3. गर्भावस्था
          4. स्तनपान

          Price / कीमत

          इस दवा की कीमत कई कारकों पर निर्भर करती है और इस कारण से दवा की कीमत के रूप में एक भी आंकड़ा देना मुश्किल है।

          आपकी मांग, स्थान और फार्मेसी के अनुसार इसकी कीमत 135-145 रुपये तक हो सकती है।

          कृपया ध्यान दें कि यह कथन वर्तमान मूल्य निर्धारण पर आधारित है और परिवर्तन के अधीन है।

          Conclusion & Review / निष्कर्ष और समीक्षा

          गुर्दे की पथरी के इलाज के लिए सिस्टोन टैबलेट एक प्रभावी उत्पाद है। यह पत्थरों को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़कर काम करता है, जिससे उन्हें निकालना आसान हो जाता है।

          इसका उपयोग छह वर्ष से अधिक उम्र के बच्चों में किया जा सकता है, लेकिन एक वर्ष से कम उम्र के बच्चों में इसका उपयोग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि रक्त में कैल्शियम का उच्च स्तर विकसित होने का खतरा होता है।

          उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और थायरॉयड विकारों वाले रोगियों में सावधानी के साथ दवा का उपयोग किया जाना चाहिए।

          हमें उम्मीद है कि आपको सिस्टोन टैबलेट पर यह लेख पसंद आया होगा। अगर आपको यह लेख मददगार लगा तो कृपया हमें फेसबुक, ट्विटर और गूगल प्लस पर अपने दोस्तों के साथ साझा करें।

          FAQ / सामान्य प्रश्न

          When cystone is used / सिस्टोन का प्रयोग कब किया जाता है?

          Cystone Tablet निम्नलिखित स्थितियों में संकेत दिया गया है:

          1) गुर्दे की पथरी (गुर्दे की पथरी) 2) मूत्र मार्ग में संक्रमण 3) मूत्र पथ की पथरी 4) पेशाब के रास्ते में दर्द और सूजन का दर्द

          Is Cystone Tablet safe to use when pregnant / क्या सिस्टोन टैबलेट गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित है?

          नहीं, जब तक बिल्कुल आवश्यक न हो, गर्भावस्था के दौरान इस दवा का उपयोग करने की अनुशंसा नहीं की जाती है। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए।

          Is Cystone Tablet safe to use during lactation / क्या सिस्टोन टैबलेट को स्तनपान के दौरान इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

          नहीं, जब तक बिल्कुल आवश्यक न हो, स्तनपान के दौरान इस दवा का उपयोग करने की अनुशंसा नहीं की जाती है। इस दवा को लेने से पहले डॉक्टर के साथ सभी जोखिमों और लाभों पर चर्चा की जानी चाहिए।

          What are the side effects of Cystone Tablet / सिस्टोन टैबलेट के क्या दुष्प्रभाव हैं?

          सिस्टोन टैबलेट का सबसे आम दुष्प्रभाव जी मिचलाना, उल्टी, पेट में दर्द और भूख में कमी है। इन दुष्प्रभावों को आमतौर पर चिकित्सा ध्यान देने की आवश्यकता नहीं होती है क्योंकि वे अपने आप दूर हो जाते हैं।

          How does Cystone Tablet work / सिस्टोन टैबलेट कैसे काम करता है?

          सिस्टोन में जड़ी-बूटियों में एंटीलिथियाटिक (गुर्दे की पथरी के निर्माण को रोकता है) और लिथोट्रिप्टिक (गुर्दे की पथरी को घोलने) गुण होते हैं, जो पथरी को घोलते हैं और उनकी पुनरावृत्ति को रोकते हैं।

          पथरी बनने से रोकने के लिए सिस्टोन रक्त और मूत्र में कैल्शियम और यूरिक एसिड के स्तर को नियंत्रित करता है। यह कैलकुलोजेनिक केमिका के संचय, निक्षेपण और अतिसंतृप्ति को रोकता हैमूत्र में एलएस, जो कि गुर्दे की पथरी बनने के प्राथमिक कारणों में से एक है।

          How long does it take for this medicine to show its effect / इस दवा को अपना असर दिखाने में कितना समय लगता है?

          इस दवा का असर 1-2 हफ्ते में देखा जा सकता है। हालांकि, यह रोग की स्थिति और गंभीरता के आधार पर भिन्न हो सकता है। यदि उपचार की निर्धारित अवधि के बाद भी आपकी स्थिति में कोई सुधार नहीं होता है तो अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

          How long does the effect of this medicine last / इस दवा का असर कितने समय तक रहता है?

          इस दवा का प्रभाव औसतन 10-12 घंटे तक रहता है।

          एक टिप्पणी भेजें

          Your comment is Valuable. Please do not enter any spam link in the comment box.

          और नया पुराने